Narendra Modi ने सेना के जवानों के साथ मनाया दिवाली,खिलाई मिठाईया

0
20

हर बार की तरह इस बार भी Narendra Modi ने अपनी दिवाली अलग तरह से मनाई उन्होंने हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी दिवाली कुछ खास तरीके से सेलिब्रेट किया । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ धाम जाने से पहले भारत-चीन सीमा पर स्थित हर्षिल सेना कैंप पहुंचे, यहाँ उन्होंने सैनिको के साथ दिवाली मनाई और उनके राष्ट्र प्रेम के जज्बे को भी सलाम किया और उनको संबोधित भी किया।

Narendra Modi ने सेना के जवानों के साथ मनाया दिवाली,खिलाई मिठाईया
Narendra Modi ने सेना के जवानों के साथ मनाया दिवाली,खिलाई मिठाईया

Narendra Modi ने सेना के जवानों के साथ दिवाली मनाई

हर्षिल सेना कैंप लगभग 11 हज़ार फुट की ऊँचाई पर है। यहाँ पर Narendra Modi सेना प्रमुख और आइटीबीपी के डीजी के संग उन्होंने मुलाक़ात किया और उसके बाद उन्होंने सेना के जवानों के साथ दिवाली मनाई और सेना के जवानों को संबोधित भी किया। Narendra Modi ने सेना के जवानों के साथ फोटो भी खिंचवाई।

Narendra Modi ने कहा कि सुरक्षा में लगे जवान राष्ट्र की मजबूती बढ़ा रहे हैं

जवानों के साथ मनाई दिवाली
जवानों के साथ मनाई दिवाली

जवानों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘बर्फ की चोटियों पर सुरक्षा में लगे जवान राष्ट्र की मजबूती बढ़ा रहे हैं और सवा सौ करोड़ देशवासियों के सपने व भविष्य संवारने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि दिवाली रोशनी का पर्व है जो अच्छाई फैलाता है और डर-भय को दूर करता है। प्रधानमंत्री ने आगे कहा, जवानों की प्रतिबद्धता और अनुशासन से देश के लोगों में सुरक्षा की भावना उठती है । पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए हर्षिल और बगोरी के ग्रामीण भी पहुंचे। बगोरी के प्रधान भवान सिंह के नेतृत्व में ग्रामीणो ने भेड़ की ऊन से बनाई गई शाल भेंट की। इसके साथ ही गांव की महिलाओं ने पीएम को फूल दिए।

Narendra Modi ने बाबा केदारनाथ के दर्शन किए

मोदी ने केदारनाथ में दर्शन किये
मोदी ने केदारनाथ में दर्शन किये

सैनिको से मिलने के बाद वे बाबा केदारनाथ के दर्शन करने गए । यह Narendra Modi का केदारनाथ धाम का तीसरा दौरा था। सुबह यहां केदारनाथ धाम में पूजा-अर्चना की। प्रधानमंत्री Narendra Modi ने केदारनाथ में केदारपुरी पुननिर्माण परियोजना के कामकाज का जायजा लिया। मोदी ने पिछले साल अक्टूबर में पांच परियोजनाओं की आधारशिला रखी थी। प्राकृतिक आपदा के कारण यहाँ काफी नुकसान हुआ था।

इन्हें भी पढ़े:-

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here